Anupam Kher बनाएंगे कश्मीरी पंडितों के पलायन पर फिल्म, 16 साल की लेखिका की किताब लॉन्चिंग पर किया ऐलान

Anupam Kher बनाएंगे कश्मीरी पंडितों के पलायन पर फिल्म, 16 साल की लेखिका की किताब लॉन्चिंग पर किया ऐलान

कश्मीरी पंडितों पर निर्देशक विवेक अग्निहोत्री की आगामी फिल्म ‘कश्मीर फाइल्स’ में अहम भूमिका निभा रहे Anupam Kher अब खुद 90 के दशक में कश्मीरों पंडितों के पलायन पर एक फिल्म बनाएंगे. इस बात का ऐलान खुद Anupam Kher ने अनुष्का धर की किताब ‘टेक मी होम’ के लॉन्च के मौके पर किया.

‘टेक मी होम’ 16 साल की लेखिका अनुष्का धर के जरिए 1990 में कश्मीरों पंडितों की बदहाली और पलायन पर‌ आधारित अंग्रेजी किताब है. मुंबई के एक पांच सितारा होटल में आज इस किताब के विमोचन के मौके पर मौजूद Anupam Kher ने 16 साल की कम उम्र में कश्मीरों पंडितों को किताब के जरिए दुनिया के‌‌ सामने लाने‌ के लिए अनुष्का धर की खूब तारीफ की. बाद में Anupam Kher ने इस बात का ऐलान कर‌ दिया है कि वे इस किताब पर एक फिल्म बनाएंगे.

बनाएंगे फिल्म

‘टेक मी होम’ की प्रस्तावना खुद Anupam Kher ने लिखी है. उन्होंने कहा, ‘विमोचक पर आने से पहले मैंने नहीं सोचा था कि मैं इस किताब पर एक फिल्म बनाऊंगा. लेकिन मैं चाहता हूं कि कश्मीर में जो कुछ भी पंडितों के साथ हुआ, उसकी कहानी सबको बतानी बहुत जरूरी है और यही वजह है कि मैंने इस पर फिल्म बनाने के बारे में सोचा.’

Anupam Kher ने कहा, ‘अनुष्का की किताब में कश्मीरों पंडितों के लिए जताई गई सहानुभूति और कश्मीरी पंडितों की समस्या को लेकर उनके जुनून से वे काफी प्रभावित हुए. इस कम उम्र में जब लड़कियां खिलौनों से खेलती हैं, अपने सजने-संवरने पर ध्यान देती हैं, तब अनुष्का ने कश्मीरी पंडितों के दर्द को सबके सामने लाने के बारे में सोचा, जो बहुत काबिल-ए-तारीफ बात है.’

मां को कश्मीर वापस ले जाने की ख्वाहिश

Anupam Kher ने कहा कि कश्मीरों पंडितों के साथ इस कदर ज्यादती होने के बावजूद भी पंडितों ने न तो कभी बंदूकें उठाईं और न ही किसी तरह के आतंकवादी गतिविधियों में हिस्सा लिया. उन्होंने हमेशा बस उम्मीद का दामन थामे रखा कि एक दिन उन्हें अपने घर वापस जाने का मौका मिलेगा.’ शिमला में जन्मे और वहीं पले-बढ़े Anupam Kher ने कहा कि उनकी ख्वाहिश है कि वे एक दिन अपनी मां को कश्मीर वापस लें जाएं.

Anupam Kher ने उम्मीद जताई कि वो दिन जरूर आएगा जब सभी कश्मीरी पंडितों को अपने घर लौटने का मौका मिलेगा. Anupam Kher ने‌ कहा कि पंडितों का जख्म कुछ ऐसा है कि उसे हमेशा कुरेदते रहना चाहिए ताकि उस जख्म में होने वाले दर्द का एहसास दुनिया को होता रहे. ‘टेक मी होम’ के विमोचन‌ के मौके पर निर्देशक अशोक पंडित भी मौजूद थे जो कश्मीरी पंडितों के पलायन पर फिल्म ‘शीन’ बना चुके हैं.