किसी भी व्यक्ति के लिए जीवन भर कुंवारा बना रहने के बारे में सोचना ही किसी बुरे सपने से कम नहीं है। जिन लोगों की शादी जरा सी लेट होने लगती है उन्हें अक्सर दोस्तों के बीच में ये बोलते हुए पाया है कि “यार कोई गर्लफ्रेंड दिला दो, तुम लोग तो यार मेरे दोस्तों हो कुछ तो सोचो मेरे बारे में और भी ऐसी बहुत साड़ी बातें जिनसे उसके कुंवारेपन का दर्द साफ़ साफ नजर आता है। जिसकी शादी लेट होने लगती है उसे फिर हर समय यही टेंशन रहने लगती है कि यार पाटा नहीं शादी होगी भी या नहीं। लेकिन दोस्तो समय पर शादी न होना इसके पीछे कहीं न कहीं हम और हमरी आदतें ही जिम्मेदार होती हैं। ऐसी आदतें जो व्यक्ति को कुंवारेपन की ओर धकेलने लग जाती हैं। और लड़के सोचते हैं कि पता नहीं उनके साथ ऐसा क्यों हो रहा है। लेकिन दोस्तो आप अगर अपनी कुछ आदतों में बदलाव लाने की कोशिश शुरू कर दें तो आपकी शादी जल्दी हो सकती है और कुंवारेपन से बचा जा सकता है। वर्ना ये आदतें तो शादी के बाद भी कुंवारा बनाने की ताकत रखती हैं। आइये दोस्तो जानते हैं उन आदतों के बारे में जिन्हें छोड़कर आप भी शादी का लड्डू जल्दी से खा सकते हैं।

काल्पनिक जिन्दगी जीना बंद करें

वो लड़के जिनके पास कोई पार्टनर नहीं होता वो लड़के ज्यादा सोचने के कारण कल्पनाओं में जीते हुए काल्पनिक चीजों का सहारा लेने लगते हैं। जैसे कि बिना पार्टनर के एडल्ट फ़िल्में देखना या फिर इसी तरह की कुछ और सामग्री का सहारा लेकर अपनी जरूरतों को पूरा करते हैं। लेकिन ये आदतें हमारे स्वास्थ्य पर बुरा असर डालती हैं। और ये बुरा असर हमारी शादी की रूकावट बन जाता है। इसलिए कल्पना में जीने के वजाय स्वास्थ्य पर ध्यान दें। स्वास्थ्य अच्छा होगा तो गर्लफ्रेंड के जल्दी मिलने का चांस है। इसलिए
काल्पनिक होने के वजाय प्रैक्टिकल होकर जीना शुरू करें।

अपना माइंड हमेशा साफ़ रखें

मान लो अगर आपकी शादी नहीं हुई है और आप अपने दोस्तों के बीच में ज्यादा से ज्यादा समय गुजारते हैं। तो कभी भी एक बात का विशेष खयाल रखें कि दोस्तों के बीच में आपस में किसी भी लड़की के लिए अपने माइंड में कभी भी किसी तरह के बुरे खयाल ना आने दें। चाहे उन लड़कियों में से आपकी कोई गर्लफ्रेंड ही क्यों न हो। क्योंकि इस तरह के खयाल आपकी छवि पर बुरा असर पड़ सकता है और ये आपको जिन्दगी भर कुंवारा रखने के लिए काफी है। क्योंकि लोगों की नजरों में गिरने के लिए इतना काफी होता है।

दोस्त ही जिन्दगी

दोस्ती एक ऐसा रिश्ता है जो कि सबसे खाश और खूबसूरत रिश्ता है। दोस्ती में अक्सर लोग हमेशा जान देने के लिए तैयार रहते हैं। और जहाँ ऐसे दोस्त हों जिनके लिए आप जान देने से भी पीछे न हटते हों वहां फिर किसी गर्लफ्रेंड की क्या जरुरत है। और बस यही सोच लड़कों की शादी को लेट करवाना शुरू कर देती है। लेकिन दोस्ती का रिश्ता अपनी जगह बिलकुल जायज और खाश है लेकिन लाइफ में ऐसा समय भी आता है जब आपको एक खाश पार्टनर की जरुरत महसूस होती है। इसलिए जीवन भर कुंवारा रहने से बेहतर है दोस्ती में समय कम दें।

आज़ादी छिन जाने का डर

बचपन से लेकर जवानी में कदम रखने तक इंसान को बिना रोक टोक वाली जिन्दगी जीता है बिलकुल आजाद होकर और हमेशा ऐसा ही बना रहने का सपना देखता रहता है। इस तरह के व्यक्ति सोचता है कि अगर उसकी शादी हो गयी तो फिर उसकी आज़ादी छीन जायेगी। लेकिन दोस्तो अपने पार्टनर के साथ जिन्दगी बिताने में अगर आपको आज़ादी छिन जाने का खतरा है तो फिर आपको जिन्दगी भर कुंवारा रहने से कोई नहीं बचा सकता है। क्योंकि आप तो शादी के बाद भी यही सोच रखेंगे और फिर रिश्ता एक दिन टूट ही जाना है। इसलिए इस आदत से दूर हटें।

बहुत ज्यादा शर्मीला होना

कुछ लोग बड़े ही शर्मीले होते हैं इतने शर्मीले कि घर में कोई रिश्तेदार भी आ जाये तो उन्हें उनसे भी बात करने में बहुत ज्यादा शर्म महसूस होती है जबकि वो लोग तो उनके अपने सगे संबंधी होते हैं। तो सोचिये इस तरह का कोई भी लड़का किसी लड़की से कैसे बात कर पायेगा। लेकिन दोस्तो इतनी शर्म भी अच्छी नहीं होती कि आप किसी लड़की से बात तक नहीं कर सको। जब हालात ही ऐसे रहेंगे तो फिर आपसे शादी कौन लड़की करेगी। इसलिए अगर चाहते हो कि कुंवारे न रहो तो फिर अपनी शर्म को घर में खूंटी पर टांग कर निकला करें।

निराश रहना बंद करें

किसी व्यक्ति की शादी अगर थोड़ी लेट होने लगती है तो उसे बड़ी चिंता सताने लगती है और वो निराशा की और बढ़ने लगता है। और वो सोचने लगता है कि पता नहीं शादी क्यों नहीं हो रही है। आगे का भी पता नहीं होगी भी या नहीं और व्यक्ति इस तरह के खयालों को सोचते हुए खुद को एक घोर की निराशा की तरफ धकेल देता है। लेकिन ऐसा न सोचें। पॉजिटिव सोच रखें क्योंकि अगर आप की शादी अभी तक नहीं हुयी है तो इसका मतलब जरुर आप के सपनों की रानी कोई खाश होगी।

सपनों से हटकर जिन्दगी को भी सोचें

कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो ये सोचते हैं कि सबसे पहले उन्हें अपने सपनों को पूरा करना है और उसके बाद जाकर वो शादी के बारे में सोचेंगे। उनका सोचना ठीक है लेकिन अगर आप अपने सपनों के लिए रिश्तों को यूँ ही टालते रहेंगे तो फिर एक दिन कोई भी नहीं आएगा आपके रिश्ते के लिए। क्योंकि तब तक आपकी उम्र भी ज्यादा हो जायेगी। आपके सपने का तो पता नहीं लेकिन आपकी शादी का पत्ता जरुर साफ़ हो जायेगा। इसलिए चाहते हो कि कुंवारा न रहना पड़े तो अपने सपनों से बाहर आकर भी देखिये।

नहीं है प्यार की जरुरत

कुछ लोग ऐसे होते हैं जो कि प्यार और शादी जैसी बातों को बहुत ज्यादा अहमियत नहीं देते हैं क्योंकि उन्हें इस सब की कोई टेंशन नहीं होती है। और वो हमेशा ऐसे ही रहना चाहते हैं। लेकिन दोस्तो जीवन में धीरे धीरे समय के साथ साथ सब सगे संबंधी, दोस्त यार, भाई बहन सब अपनी जगह अपने व्यस्त हो जाते हैं और यही वो समय होता है जब आप के आस पास कोई भी नहीं होता है और तब आप सोचते हैं कि काश आपका भी कोई पार्टनर होता। लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी होती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here