Raj Kundra Case: शिल्पा शेट्टी के पति Raj Kundra को झटका! अश्लील फ़िल्म केस में अदालत ने 27 जुलाई तक पुलिस कस्टडी में भेजा

Raj Kundra Case: शिल्पा शेट्टी के पति Raj Kundra को झटका! अश्लील फ़िल्म केस में अदालत ने 27 जुलाई तक पुलिस कस्टडी में भेजा

अश्लील वीडियो बनाने और इसका कारोबार करने का आरोपी Raj Kundra और रायन थॉर्पे की पुलिस कस्टडी अदालत ने चार दिन और बढ़ा दी है। उन्हें 27 जुलाई तक पुलिस कस्टडी में भेजा गया है। बता दें, गिरफ़्तारी के बाद Raj Kundra को अदालत ने पहले तीन दिन की पुलिस कस्टडी में भेजा था, जो आज यानी शुक्रवार को ख़त्म हो गयी। मुंबई पुलिस ने आगे की जांच के लिए सात दिनों की कस्टडी और मांगी थी।

मुंबई पुलिस ने शुक्रवार दोपहर को Kundra और थॉर्पे को मजिस्ट्रेट कोर्ट में पेश किया। सात दिनों की कस्टडी मांगने के पीछे पुलिस ने बताया कि उन्हें शक़ है, अश्लील फ़िल्म कारोबार से जो कमाई की गयी थी, उसे Kundra ने ऑनलाइन बेटिंग में लगाया है। Raj Kundra के यस बैंक के एकाउंट और यूनाइटेड बैंक ऑफ़ अफ्रीका एकाउंट के बीच हुए ट्रांजेक्शन की जांच पुलिस करना चाहती है। इस पर अदालत ने Raj और रायन को 27 जुलाई तक पुलिस कस्टडी में भेज दिया।

बता दें सोमवार देर रात क्राइम ब्रांच ने Raj Kundra को गिरफ़्तार कर लिया था। उन पर अश्लील वीडियो बनाकर ऐप के ज़रिेए प्रसारित करने और इसका कारोबार करने के आरोप हैं। इस मामले में पुलिस ने एक और आरोपी रायन थॉर्पे को भी पकड़ा था।

मेडिकल जांच के बाद Raj को पुलिस कमिश्नर के ऑफ़िस ले जाया गया था और मंगलवार दोपहर अदालत में पेश किया गया, जहां से उन्हें तीन दिनों की पुलिस कस्टडी में भेज गिया गया। शुक्रवार को Raj को जेल से अदालत ले जाने का वीडियो बॉलीवु़ड फोटोग्राफर वीरल ने पोस्ट किया है। वीडियो में आप देख सकते हैं कि Raj उन्हीं कपड़ों में हैं, जो उन्होंने गिरफ़्तारी के वक़्त पहने थे।

मंगलवार की पेशी के दौरान Raj Kundra के वकील ने कोर्ट से कहा था कि उनकी ओर की बनाई गई फिल्मों को कामोत्तेजक कहना गलत होगा। टाइम्स ऑफ इंडिया की ख़बर के अनुसार वकील ने कोर्ट से कहा है कि Raj Kundra और रायन थार्प की ओर से बनाई गई फिल्मों को एडल्ट कहना सही नहीं है।

इनकी फिल्मों को अभद्र कहा जा सकता है लेकिन कामोत्तेजक नहीं। Raj Kundra के वकील ने इलेक्ट्रॉनिक रूप से अश्लील कंटेंट भेजने पर सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम की धारा 67 ए के आवेदन पर भी आपत्ति जताई है। वकील ने आगे कहा है कि पुलिस इन दिनों जिन वेब शो की जांच कर रही उसको अश्लील कंटेंट बता रही है, जबकि इसे एडल्ट कंटेंट में वर्गीकृत नहीं किया जा सकता।